• फीडिंग प्रोग्राम

      फीडींग कार्यक्रम दरिद्र बच्चों की जो कि आवश्यक्ता में है आधारभूत खुराक और शैक्षिक आवश्यक्तों की सेवा के लिए एक मानव-कल्याण की परियोजना से बढ़कर है। यह एक बच्चे के जीवन के, उसके परिवार के जीवन, और परिवार जो समुदाय को बनाते, की संरचना को बदलता है।

      यह परियोजना बच्चों को उनके बचपन को इसकी मासूमयित का आन्नद लेने और उनके जीवनों के गंभीर समयों को विकसित करने और युवा और योग्य व्यक्तिगत में बढ़ने के लिए इस्तेमाल करने के अवसर प्रदान करती है।

  • चिल्ड्रन होमस्

      माता-पिता, परिवारिक सदस्यों या संरक्षण्क के बिना बच्चे एक ऐसे संसार के ख़तरों के लिए चोट पहुँचने योग्य है जो अन्धकार, शोषण और बाधाओं से भरा है-यहाँ तक कि एक बच्चे के लिए भी।

      चिल्ड्रन होमस् एक सुरक्षित स्थान को देता है जहाँ पर इन बच्चों को पनाह दी जाती, अच्छी सेहत और शिक्षा के लिए एक समान अवसर दिए जाते है, और फलदायक युवा बालग होकर बढ़ने का अवसर होता है।

  • मानव तस्करी

      मुम्बई, भारत में, दा कम्यूनटी डिवैलपमैंट सेंटर शहर के रेड लाईट क्षेत्र के ख़तरों में से पकड़े बच्चों और स्त्रियों की देखरेख करता है यहाँ पर, स्त्रियों को काम करने की निपुणताओं को सीखने के द्वारा पुनर्वासन का एक स्थान दिया जाता है, और बच्चों के पास अच्छी सेहत और शिक्षा प्राप्त करने का अवसर होता है।

      चिआंग राय, थाईलेंड पड़ोस में गबरीले हाऊस् में देशों से स्त्रियों को उन ख़तरों से बचने के लिए जिन में वह अनजाने में और ना जानते हुए फँस गई थी, और एक सुरक्षित वातावरण में पनाह ढूँढने का अवसर देता है जो निपुणता परिक्षण और बाईबल के अनुसार नींव निर्माण द्वारा उनके पाँवों पर उन्हें वापस खड़ा होने में सहायता करता है।

  • ई.ई.एल प्रसारण

      एशिया में बहुत से लोगों के लिए एक चर्च या एक बाईबल अध्ययन के लिए जाना एक विक्लप नहीं है।

      क्षेत्र में एक चर्च की अनुपस्थिति या परिवारिक सदस्यों का विरोध मसीही शिक्षा में आने को मुश्किल बना देता है। पर जो आनंद लो प्रतिदिन के जीवन का प्रसारण क्षेत्रों के पार घरों में जाता है, जिससे लोगों को बाईबल की शिक्षा का एक अच्छा और सेहतमंद अनावरण प्राप्त होता है।

      विशेष खण्ड जो प्रसारण की प्रसिद्धि में वृद्धि करता है वह लोगों के लिए उन भाषाओं में क्षेत्रीय अनुवाद है जिन में वह संचार करते है और असानी के साथ समझ सकते है।

    • चैनलों की गिनतीः 38 चैनल (वर्तमान में)
    • भाषाएँ की गिनतीः 33 भाषाएँ (वर्तमान में)
  • स्रोत/पुस्तकें

      मसीही जीवन के विषयों पर भिन्न-भिन्न जॉयस मेयर की पुस्तकें महाद्वीपों में उनकी व्यावहारिक्ता और प्रतिदिन के जीवन में असानी से लागू किए जाने के लिए प्रसिद्ध है।

      क्षेत्रीय भाषाओं में अनुवाद की गई, यह पुस्तकें उन लोगों को बेची जाती या बाँटी जाती है जो बाईबल आधारित शिक्षा और उन के द्वारा स्पर्श किए जाते है जो इन प्रसिद्ध बिकने वाली पुस्तकों में बाँटे जाते है।

  • जीवन का कुँआ

      पानी की कमी एक ऐसी संकट की स्थिति है जो संसार भर में देशों में एक विपत्ति है। निर्जल होना या गंदे पानी को पीने के नकरात्मक प्रभाव गंभीर सेहत समस्यों को कारण दे सकते है जो कि गंभीर बीमारी और मृत्य में अगुवाई कर सकते है।

      कुँआ खोदने की परियोजना से मिली हुई कलीसिया स्थापना की परियोजना है जो कलीसिया के साथ उन्हें निर्माण करने और उत्साहित करने के लिए एक सांझेदारी है जब वह उनकी कलीसिया की चरवाही करना जारी रखते है।

  • मेडिकल मिशन

      जब प्राकृतिक अनकही तबाही विपदा का कारण बनती, विपदा कि शिकार लोगो को आपतकाल पूर्ति बाँटने और उन लोगों का, जिनका विनाश ने उनके घरों और जीवनों को तबाह कर दिया के पास थोड़ी या बिल्कुल सहायता नहीं है, आशा के हाथ सहायता देने के लिए दूर-दूर तक यात्रा करता है।

      उन लोगों का इलाज करने के द्वारा जो मेडिकल देखरेख में नज़रअंदाज किए जाते है, मेडिकल मिशन लोगों के लिए बेहद आराम और चंगाई को महाद्वीपों में लाता है।

  • एक गाँव को गोद लें

    • कोढ़ एक बीमारी है जो निरंतर एक कलंक को रखती जो लोगों को सपंर्क ना रखने के लिए मजबूर करता-और इस तरह सहायता को भी-इससे प्रभावित हुए लोगों के लिए।
    • एक गाँव को गोद लें में हमारी सांझेदारी ने इस कलंक को तोड़ने में और एक केन्द्र को उत्पन्न करने में सहायता की है जिस में मसीह के प्रेम को उंडेला जाना है, जहाँ पर मैडीकल सहायता और व्यक्तिगत और आत्मिक सहायता उन लोगों को चाहिए जो अभी भी कोढ़ द्वारा प्रभावित है।

  • आपदा राहत

      2015 में, हमने दक्षिण में दो बड़ी प्राकृतिक आपदों में सहायता प्रदान कीः

      नेपाल भूकम्प एप्रिल-मई 2015

    • दो भूकम्प जो नेपाल में एप्रिल 25 और 12 मई 2015 को आए थी ने शरीरिक दुखों को कारण दिया जिसका परिणाम बहुत ज्यादा लोगों को जीवित रखने के लिए अपातकाल सहायता प्रदान की आवश्यक्ता थी।
    • निम्नलिखित आपातकाल सहायता के हाथ द्वारा भूकम्प पीडि़त लोगों को प्रदान की गई थीः

    •  चावल
    •  नूडलस्
    •  दाले
    •  चीनी
    •  कम्बल
    •  तम्बू
    •  दाँतों के ब्रश
    •  टूथपेस्ट
    •  साबुन
    •  दवाईयाँ
    • वस्तुओं को बाँटने के अतिरिक्त, आशा के हाथ ने मेडिकल ध्यान की बेहद आवश्यक्ता में लोगों के लिए उनके स्थानों पर जाने वाले एक क्लीनिक की स्थापना भी की।

      नवम्बर-दिसबर 2015 में तमिलनाडू (भारत) में बाढ़

    • नवम्बर और दिसबर 2015 में भारी बारिश ने चेन्नई के राजधानी शहर में और तमिलनाडू के दक्षिण राज्यों में अन्य जिलों में गंभीर बाढ़ को कारण दिया।
    • निम्नलिखित राहत साम्रगी सहायता के हाथ के द्वारा बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में प्रदान की गई थीः

    •  नहाने का साबुन
    •  दाँतों का ब्रश
    •  टूथपेस्ट
    •  चद्दरे
    •  तौलीए
    •  मैट
    •  बाल्टी
    •  मग्ग
    •  स्कुल बैगस्
Copyright © 2016 | Contact Us