शांति देना

यह बहस और झगड़े से आरम्भ होकर चिल्लाना और शीध्र ही लड़ाई में इतना बढ़ गया कि यहाँ निशा के घर में तनिक भी शांति नहीं रही। सोलह साल की निशा डी.डी जालंधर पर पंजाबी में जॉयस मेयर के आनं लो प्रतिदिन जीवन का टी.वी प्रसारण द्वारा आशीष पाती रही थी।


वह पढ़ाई में कठिन परिश्रम कर रही थी और तब तक सबकुछ उसके लिए ठीक चलता प्रतीत हुआ जब तक घर पर लड़ाई नहीं शुरू हो गई।


उसके परिवार को लड़ते और झगड़ते देखना उस पर बोझ बन रहा था। निशा ने उन्हें शांत रहने के लिए कायल करने का प्रयास किया पर उसकी विनती साधारण नज़रअंदाज़ कर दी गई।


फिर एक दिन जब वह यह सब सहन ना कर पाई। वह अन्दर से टूट रही थी और फैसला किया कि जॉयस की शिक्षा उसकी सहायता करेगी। ऐसा ही हुआ कि कार्यक्रम में जॉयस परमेश्वर द्वारा शांति को सिखा रही थी। इसने उसके दिल को इतना स्पर्श किया कि उसने बिल्कुल भी समय बर्बाद नहीं किया; उसने फोन उठाया और जॉयस मेयर मिनिस्ट्रीज़ के कौंसलिंग सेंटर को फोन लगाया।


सलाहकार जिसने फोन उठाया वह सहायता करने के लिए बेहद प्रस्न्न था और ध्यान से बात सुनी जब निशा ने अपने दिल का बोझ उसे सुनाया।


एक साथ, उन्होंने फोन पर यह विश्वास करते हुए प्रार्थना की कि उनके परिवार में शांति बहाल होगी। उनके विश्वास की प्रार्थना कई दिनों तक कायम रही और तब एक दिन, निशा ने यह गवाही बताने के लिए फोन किया कि अब उनके घर में झगड़ा नहीं होता था!


निशा विश्वास करती है कि परमेश्वर ने उसके घर को शांति और एकता से आशीषित किया है। वह सहायता के हाथ के लिए कृतज्ञ है जिसने उसे उसकी लाचार परिस्थितियों से बाहर निकाला और एक हार्दिक और प्रस्न्नपूर्वक शांति में रखा।


* नाम गोपनीयता के लिए बदला गया है।


जॉयस मेयर मिनिस्ट्रीज़ किसी भी व्यक्ति का मार्गदर्शन करने के लिए समर्पित है जिसे प्रार्थना द्वारा सलाह की आवश्यकता है। अगर आप है, तो हमारे निःशुल्क नंः 1800 3454 007 पर हमें फोन करें।


Copyright © 2016 | Contact Us